गर्भावस्था में अंगूर खाने के फायदे व नुकसान । Benefits of eating Grapes during Pregnancy

Spread the love

गर्भवस्था एक येसी स्थिति है, जिसमे महिलाओ को अलग- अलग तरह के फल और व्यंजन खाने की इच्छा होती है। लेकिन गर्भवस्था मे एक छोटी से चूक या गलती बहुत भारी पड़ सकती है। गर्भावस्था मे महिलाओ को अपना पूरा-पूरा ख्याल रखना होता है। लेकिन अंगूर एक येसा फल है, जिसे देख कर तो सभी के मुह मे पानी आ जाता है। लेकिन सवाल ये उठता है, की क्या गर्भावस्था मे अंगर खाया जा सकता है या नहीं, तो आइए जानते है। हमारे इस ब्लॉग Kumar Medical Care की इस पोस्ट मे गर्भावस्था में अंगूर खाने के फायदे व नुकसान के बारे मे सपूर्ण जानकरी जो नीचे अलग-अलग सेक्सन मे लिखी गई है।

क्या गर्भावस्था के दौरान अंगूर खाना सुरक्षित है । Is it Safe to Eat Grapes While Pregnant?

अक्सर गर्भवती महिलाओ के मन मे ये सवाल रहता है, की क्या गर्भावस्था के दौरान अंगूर खाना सुरक्षित है, जी हाँ गर्भवस्था के दौरान अंगूर का सेवन कर सकते है। और रिसर्च के अनुसार एक पेपर मे लिखा है, की गर्भावस्था के दौरान फाइबर, मैग्नीशियम, पोटैशियम, विटामिन, आयरन, फोलिक एसिड आदि की आवश्यकता होती है। जो की अंगूर मे ये सारे तत्व भरपूर मात्र मे पाए जाते है। जो गर्भवती महिला के गर्भ मे पल रहे बच्चे के विकास मे मददगार होते है। और अंगूर गर्भवती महिला को भी अनैक तरह के से लाभदायक होता है। जैसे अंगूर मे मैग्नीशियम पाया जाता है, जो माँस पेसियों के दर्द से राहत दिलाता है। खून की कमी को दूर करता है, कब्ज की समस्या से छूटकरा दिलाता है, हार्ट के लिए लाभदायक होता है, शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता बड़ाता है। इनके अलाव भी अनैक तरह से लाभकारी होता है। जो हम नीचे विस्तार से पड़ेंगे।

अंगूर के पोषण तत्व । अंगूर के कोन कोन से पोषक तत्व पाए जाते है।

अंगूर पोषकता से भरपूर होता है। लेकिन हम अगर बात करे की इसमे कोन-कोन से पोषक तत्व पाए जाते है। तो जिसमे ये कुछ पोषक तत्व पाए जाते है जो निम्न है-

  • पानी- 80.54g
  • एनर्जी- 69 Kcal
  • प्रोटीन- 0.72 g
  • लिपिड -0.16g
  • कार्बोहाईड्रेट – 18.1g
  • शुगर- 15.48g
  • केल्सियम- 10ml
  • आयरन- 0.36 mg
  • मेग्नीशियम- 7 mg
  • फास्फोरस- 20 mg
  • पोटेशियम- 191 mg
  • सोडियम- 2 mg
  • जिंक- 0.07 mg
  • कापर- 0.127 mg
  • मेगनीज- 0.071 mg
  • विटामिन्स- 3.2 mg
  • थियामीन- 0.069 mg
  • रायबोफ्लॉवीन- 0.07
  • नियामीन- 0.188 mg
  • विटामिन बी 6- 0.086mg
  • विटामिन ई- 0.19 mg
  • विटामिन के-14.6µg

गर्भावस्था के दौरान एक दिन में कितने अंगूर खाने चाहिए?

अगर हम बात करे की गर्भावस्था के दौरान एक दिन में कितने अंगूर खाने चाहिए ये सवाल हर महिला के मन मे होता है। गर्भावस्था के दौरान संतुलित मात्र मे ही अंगूर का सेवन करना चाहिए। डायटीशियन के अनुसार लगभग 16 अंगूर के दाने अपने आहार मे शामिल करने की सलाह देते है। जिसमे आप 16 अंगूर के दाने सुबह और 16 अंगूर के दाने शाम को खा सकते है। गर्भवस्था मे अंगूर खाना सुरक्षित है। लेकिन अपने चिकित्सक से सलाह जरूर से ले।

प्रेग्नेंसी के दौरान अंगूर खाने के फायदे । Benefits of Eating Grapes During Pregnancy

गर्भावस्था के दौरान फलों के सेवन से बहुत सारे फायदे मिलते है। जिसने अंगूर की बात करे जिसमे फाइबर, मैग्नीशियम, पोटैशियम, विटामिन, आयरन, फोलिक एसिड आदि भरपूर मात्रा मे पाया जाता है। जो गर्भवस्था मे महिला और गर्भ मे पल रहे बच्चे के लिए लाभदायक होते है। अंगूर के फ़ायदों के बारे मे इस सेक्सन मे हम जानेंगे जो निम्न है-

पाचन क्रिया बेहतर बनाए।  Improve Digestion:-

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओ को पाचन से संबंधित समस्याओ का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अंगूर जो की मे फाइबर भरपर मात्र मे पाया जाता है। जो पेट मे कब्ज से राहत दिलाने मे मदद करता है। शरीर मे मेटबॉलिज़्म क्रिया को बड़ाता है। अगुर के सेवन से गर्भवस्था मे कब्ज की समस्या से छुटकार पाने मे मदद मिल सकती है। इसलिए प्रेग्नेंट महिलाओ को अंगूर को अपने आहार मे जरूर शामिल करना चाहिए।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बड़ाये । Increase Immunity  :-

गर्भावस्था के दौरान महिलाओ को अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को स्ट्रॉंग बनाए रखने की आवश्यकता होती है। जो की अंगूर मे विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते है। जिससे गर्भावस्था के दौरान अंगूर के सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने मे मदद मिलती है। जिससे गर्भावस्था के दौरान सर्दी, खांसी, जुखाम, फ्लू, जैसे इन्फेक्शन आदि होने के खतरे से बचने मे मदद मिलती है। इसलिए गर्भवती महिलाओ को अंगूर को अपने आहार मे शामिल कर सकती है।

और पड़े प्रेगनेंसी में तरबूज खाना के फायदे और नुकसान

हीमोग्लोबिन की कमी को पूरा करे । Help in Increase Hemoglobin :-

गर्भावस्था के दौरान कई महिलाओ को खून की कमी का सामना करना पड़ता है। येसे मे महिला और गर्भ मे पल रहे बच्चे को खतरा हो सकता है। इस समस्या को मे अगुर का सेवन करना अभूत फायदेमंद होगा क्योंकि अंगूर मे आयरन और एंटीऑक्सीडेंट अधिक मात्रा मे पाया जाता है। जो खून की कमी को दूर करने मे सहायक होते है। जो शरीर मे हीमोग्लोबिन की मात्रा को बड़ाने मे बहुत मदद करते है। इसलिए प्रेग्नेंट महिलाओ को अगुर को अपने आहार मे शामिल करना चाहिए।

हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभकारी । Beneficial for Heart:-

अंगूर के सेवन से लिपिड और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने मे मदद मिलती है। क्योंकि अंगूर मे फ्लेवनोइड, फिनोलिक एसिड और रेस्वेराट्रोल मोजूद होते है। जो लिपिड और कोलेस्ट्रॉल के लेवल को सामान्य बनाने मे मदद करते है। जिससे ब्लड प्रेसर सामान्य बना रहे। इसलिए गर्भवती महिलाओ को अपने आहार मे अगुर को जरूर शामिल करना चाहिए।

अर्थराइटिस से दिलाए राहत Provide Relief in Arthritis :

गर्भावस्था मे महिलाओ को जोड़ों के दर्द, और जोड़ों मे सुजन आदि समस्याये होती है, जिसे हम अर्थराइटिस कहते है। गर्भावस्था के दौरान इस अंगूर के सेवन से इस समस्या मे राहत मिल सकती है। क्योंकि अंगूर मे एंटीइन्फ्लेमेटरी (सूजन को कम करने वाला) प्रभाव पाया जाता है। अंगूर मे पॉलीफेनॉल्स नामक तत्व पाया जाता है। जो सूजन को कम करने का कार्य करता है। इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाये दर्द और सूजन की समस्या से निजात पाने के लिए अंगूर को अपने आहार मे शामिल कर सकती है।

मांसपेशियों की ऐंठन को दूर करे Remove Muscles Cramps :-

गर्भावस्था के दौरान होने वाले थकान और मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या को दूर करने के लिए अंगूर बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि इसमे पाया जाने वाला कार्बोहाईड्रेट जो शरीर मे होने वाली थकान को दूर करता है और अंगूर मे उपस्थित फिनोलिक यौगिक ऑक्सीडेटिव मांसपेशियों पर लगने वाले तनाव को कम करने मे मदद करता है। जिससे होने वाली मांसपेशियों की ऐंठन को दूर किया जा सकता है। इसलिए प्रेग्नेंट महिलाओ को थकान और मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या को दूर करने ले लिए अंगूर को अपनी डाइट मे शामिल जरूर से करना चाहिए।

और पड़े गर्भावस्था के दौरान प्रकट होने वाले लक्षण

खून जमने की प्रक्रिया को करे नियंत्रित Control The Blood Clotting process

गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाओं में प्रसव के दौरान खून के थक्के जमने की समस्या देखी जाती है। अंगूर मे एंटीकोगुलेंट (खून को पतला करने वाला) प्रभाव भी पाया जाता है। जो खून को जमने या गाढ़ा होने से रोकता है। एसी स्थिति को ठीक करने के लिए गर्भवती महिलाओ को अपनी डाइट मे अंगूर को शामिल करना करना चाहिए।

कैविटी हटाए और दांतों को मजबूत बनाए Remove Cavities and Make teeth Strong :-

अंगूर मे कैल्शियम इनेमल पाया जाता है। जो दांतों और हड्डियों को मजबूत बनाने मे मदद करता है। और एंटीमाइक्रोबियल प्रभाव भी मोजूद होता है। जो दांतों मे जमने वाली केविटी को दूर करता है। और मुंह को स्वास्थ्य बनाने मे सहायता करता है। इसलिए येसा कहना गलत नहीं होगा की, गर्भवती महिलाओ को अपने मुह और दांतों को स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए अंगूर का सेवन करना चाहिए।

हाइड्रेटेड रखने में मदद करता है । Help s to Keep Hydrated

अंगूर मे 80.54g पानी पाया जाता है। जो प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाली पानी की कमी को दूर करने मे बहुत मददगार साबित होगा। इसलिए गर्भवती महिलाये को अंगूर को अपनी डाइट मे शामिल करके शरीर मे पानी की कमी को दूर किया जा सकता है।

अस्थमा में पहुंचाए लाभ Beneficial for Asthma :-

अगर गर्भवस्था के दौरान महिला को अस्थमा की शिकायत है, तो अंगूर का सेवन कर अस्थमा मे कुछ राहत मिल सकती है। क्योंकि अंगूर में रेस्वेराट्रोल (resveratrol) नाम का पॉलीफेनोल पाया जाता है। इस रेस्वेराट्रोल (resveratrol) पॉलीफेनोल मे एंटी इंफलमेंट्री गुण मोजूद होता है। जो अस्थमा के कारण फेफड़ों मे होने वाले सूजन को काम करने मे मदद करता है। एक शोध मे जिक्र मिलता है, की अंगूर के बीजों के अर्क से अस्थमा मे राहत मिलतीं है। इसलिए येसा कहा जा सकता है, की अगर गर्भवस्था के दौरान किसी महिला को अस्थमा की शिकायत है, तो अंगूर का सेवन करके कुछ राहत पा सकती है।

और पड़े गर्भावस्था के दौरान खीरा खाने के फायदे

गर्भ में बच्चे के विकास के लिए अंगूर के फायदे

अगर हम बात करे की अंगूर के सेवन से गर्भ मे पल रहे बच्चे को क्या फायदा होगा तो निम्न बिन्दुओं के माध्यम से हम गर्भ मे पल रहे भ्रूण के विकास के लिए अंगूर के फायदों के बारे में जान सकते हैं।

  • अंगूर मे उपस्थित विटामिन बी 6 जो गर्भावस्था मे गर्भ मे पल रहे भ्रूण के विकास मे सहायता करता है और मॉर्निंग सिकनेस्स( उलटी और जी मचलना) रोकने मे मदद करता है, जिससे महिला के शरीर मे नूट्रिशन की कमी नहीं तो पाती है, जिससे बच्चे को पूरा पोषण मिलता है।
  • अंगूर के सेवन से गर्भ मे पल रहे बच्चे के दिमाग को विकसित होने मे मदद मिलती है। क्योंकि अंगूर मे प्रोटीन और फेटी एसिड पाया जाता है। जो बच्चे के ब्रेन के विकास के लिए सहायक होता है।
  • अंगूर के सेवन से गर्भ मे पल बच्चे के आँखों के लिए फायदेमंद होता है। क्योंकि अंगूर मे विटामिन-ए पाया जाता है, जो आँखों के विकास के लिए बहुत ही सहायक होता है।
  • यह बच्चे को न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट (ब्रैन, स्पाइनल कॉर्ड का विकार) के खतरे से भी बचत है। इसमें मौजूद फोलेट यानी फोलिक एसिड के खतरे से बचाता है।

और पड़े गर्भावस्था में आम खाने के फायदे और नुकसान

गर्भावस्था के दौरान अंगूर के सेवन से होने वाले साइड-इफेक्ट

गर्भावस्था के दौरान अंगूर के सेवन से गर्भवती महिला को और उसके गर्भ मे पल रहे बच्चे को फायदे होते है। लेकिन अंगूर अधिक मात्र मे सेवन करने से आपको नुकशान भी हो सकते है। जो की इस प्रकार के है-

  1. अंगूर में मौजूद फिनोलिक यौगिकों जो की ब्लड में लिपिड और बड़े हुए कोलेस्ट्रॉल के स्तर को सामान्य बनाने मे मदद करता है। लेकिन इसमे कुछ विषैले गुण मौजूद होते हैं, अंगूर के अधिक सेवन से हानिकारक प्रभाव डाल सकते है।
  2. अंगूर के अधिक सेवन से आपको गैस, पेट मे मरोड़, दस्त, आदि समस्या हो सकती है। क्योंकि इसमे अधिक मात्रा मे फाइबर होता है। और अंगूर के अधिक सेवन से पेट से संबंधित समस्या उत्पन्न कर सकता है।
  3. अगर किसी महिला को मधुमेह की शिकायत है। तो अंगूर के अधिक सेवन से शुगर की समस्या ओर अधिक बड सकती है।
  4. अगर अंगूर कच्चे है, जो स्वाद मे खट्टे होते है, तो उनका सेवन नहीं करने चाहिए। क्योंकि उनमे अम्ल की मात्र ज्यादा होती है। जो हानिकारक प्रभाव डाल सकते है।
  5. अंगूर मे कार्बोहाइड्रेट अधिम मात्रा मे होने के कारण आपका वजन भी बड सकता है।

और पड़े गर्भावस्था के दौरान शहद खाने के फायदे और नुकसान

गर्भावस्था के दौरान अपने आहार में अंगूर कैसे शामिल करें?

अब सवाल ये उठता है, गर्भावस्था के दौरान अंगूर को आहार में कैसे शामिल करे। क्योंकि प्रेग्नेंसी के दौरान बहुत सतर्कता रखनी पड़ती है। तो अंगूर को अपने आहार मे शामिल करने के लिए निम्न तरीकों को अपनाया जा सकता है:

  • अंगूर को सीधे खाया जा सकता है।
  • अगर का जूस बना कर पिया जा सकता है।
  • अंगूर को फ्रूट और सलाह से साथ खाया जा सकता है।
  • सुबह के समय नास्ते के साथ खा सकते है।
  • दोपहर मे भी खा सकते है।

गर्भावस्था में अंगूर खाने से कब बचें?

गर्भावस्था मे अंगूर बहुत ही फायदेमंद होता है, जो आपको बहुत सारे लाभ पहुचाता है। लेकिन कुछ परिस्थितिया यैसी होती है, जिनमे अंगूर का सेवन नहीं करना चाहिए। जो निम्न लिखित है-

  • अगर किसी महिला को डायबिटीज की समस्या है, तो उस महिला को अंगूर का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि अंगूर मे शुगर बहुत अधिक मात्रा मे पाई जाती है।
  • अगर पाचन से संबंधित कोई समस्या है, जैसे गैस, दस्त, पेट मे मरोड़ आदि मे अंगूर का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अगर आपको अंगूर के सेवन से कोई एलर्जी होती है, जैसे शरीर मे खुजली होना, स्किन पे चकते पड़ जाना आदि तो अंगूर का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अगर किसी महिला को अधिक मोटापा है, तो अंगूर का सेवन अधिक मात्र मे न करे। इसमें मौजूद शुगर की मात्रा गर्भावस्था मधुमेह की समस्या उत्पन्न कर सकती है।

और पड़े प्रेग्नेसी के दोरान कोन-कोन से टीके लगाए जाते है।

गर्भवस्था के दौरान अंगूर खाने के बारे मे पूछे जाने वाले सवाल । Frequently asked Questions about Eating Grapes During Pregnancy

प्रश्न:- क्या गर्भवती महिला अंगूर को खाली पेट खा सकती है?

उत्तर:- गर्भवती महिला अंगूर को खाली पेट खाए या नहीं, इस बारे मे कुछ कह नहीं सकते है। क्योंकि इस बारे मे कोई अध्ययन नहीं हुआ है।

प्रश्न:- क्या गर्भावस्था के दौरान रोजाना अंगूर खा सकते हैं?

उत्तर:- सीमित मात्रा में गर्भावस्था के दौरान प्रतिदिन अंगूर का सेवन कर सकते हैं। इनसे कोई नुकसान नहीं होगा।

प्रश्न:- अंगूर किसे नहीं खाना चाहिए?

उत्तर:- जिन महिलाओ को महुमह की शिकायत है, उनको अंगूर का सेवन नहीं करना चाहिए। अन्यथा आपका शुगर लेवल बड़ सकता है।

प्रश्न:- क्या गर्भावस्था में अंगूर के बीज खा सकते हैं?

उत्तर:- वेसे तो अंगूर सीधे ही खाए जाते है। लेकिन इस बात की जानकरी नहीं है

प्रश्न:- अगर मुझे जेस्टेशनल डायबिटीज है, तो मैं कितने अंगूर खा सकती हूँ?

उत्तर:- अंगूर पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, लेकिन अगर आपको जेस्टेशनल डायबिटीज की शिकायत है, तो आप अंगूर का सेवन न करे। इनके सेवन से शुगर का स्तर बड़ सकता है।

प्रश्न:- क्या गर्भावस्था के दौरान सूखे अंगूर या किशमिश खाना सुरक्षित है?

उत्तर:- गर्भावस्था के दौरान किशमिश का सेवन करना बिल्कुल सुरक्षित है। लेकिन किसमिश को अधिक मात्रा मे सेवन नहीं करे।

प्रश्न:- क्या हरे अंगूर काले अंगूर जितने ही पौष्टिक होते हैं?

उत्तर:- हरे अंगूर और काले अंगूर दोनों के स्वास्थ्य लाभ लगभग समान ही हैं, लेकिन विसेसज्ञों के अनुसार काले अगूरों मे एंटीऑक्सीडेंट ज्यादा मात्रा मे पाए जाते है।

आसा करता हु आपको हमरी इस पोस्ट मे गर्भावस्था में अंगूर खाने के फायदे व नुकसान के बारे मे जानकारी मिली होगी और उममित है आपको ये पोस्ट अच्छी लागि होगी। अगर आपका कोई सवाल है, तो नीचे कॉमेंट मे जरूर लिखे और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।


Spread the love

Leave a Comment